Recommended Groups

Loading...

Group Info

  • Applied Homeopathy (Health Clinic) Health & Wellness
  • A group for discussion on different health problems and its homeopathic care.

    Members can post their health problems here and get treatment advice on it.
    • 157 total views
    • 13 total members
    • Last updated 28 December 2019

Applied Homeopathy (Health Clinic)

Members

This group has 13 members.
  • Inbooker iamon
  • Fully Faaltu https://youtu.be/UCNFu_8Dz3M
  • Sanjeev Jain आज हमारे देश की पूरी रेलवे बंद पड़ी है मतलब इनकम शून्य । लेकिन कर्मचारियों को सैलरी पूरी दी जा रही है। हमारे देश में करोड़ों पेंशन धारी है जिन्हें पेंशन पूरी दी जा रही हैं । सरकारी रोडवेज की बसे बंद हे पर सेलरी दी जा रही है। सबकी कोरोना का इलाज और जांच मुफ्त हो रही है. गरीबों को राशन मुफ्त या कंट्रोल से कम दामों पर उपलब्ध कराया जा रहा है । सरकार के जितने भी इनकम सोर्स है अभी बंद हे टैक्स जो व्यपारी भरते है भी अभी लगभग बंद हे । उधर चीन और पाकिस्तान के साथ युद्ध के मोर्चे खुले हैं और उसकी तैयारी चल रही है, युद्ध हुआ तो पैसा क्या बहुत कुछ बलिदान करना पड़ेगा. एक समय था जब माँ-बहनों ने अपने गहनें बेच लड़ाई के लिए दान दिया था. आज की पीढ़ी को क्या हो गया है, देश के प्रति अपनी निष्ठा और कर्तव्य क्यों नहीं देख पा रहे ? पैसा कहां से आएगा ? सरकार ने पेट्रोल डीजल और पर अगर टैक्स बड़ा भी दिया तो कोई गलत काम नहीं किया अभी और आज के हालात देखते हुए माध्यम वर्गीय परिवार पर मुस्किल से परे महीने के पेट्रोल पर 500 से 1000 रू का अतिरिक्त खर्चा आएगा. हम चीखना और चिल्लाना शुरू कर देते हैं क्या केवल इसलिये कि पेट्रोल और डीजल के दामों पर मातम मनाना हमारी आदत हो चुकी है जिससे देशद्रोही, टुकड़े टुकड़े गैंग, भृष्ट राजनीति करनेवाले लोगों, दुष्प्रचार कर देश मे अराजकता व अशांति फैलाने वाले लोगों और उनके राजनीतिक एजेंडों को बल मिलता है ? अपने भारत पर अभी संकट है और हम लोग क्या इतना भी नहीं कर सकते हे कि समय की मांग देखते हुए देश का साथ दें ? पैसा कहां से आएगा ? गूंगे अर्थशास्त्री के शब्दों में कि पैसे पेड़ों पर नहीं उगते !!!
  • ARVIND Ashiwal पारले जी का बिस्कुट का पैकेट दिन पर दिन छोटा होता जा रहा है.! : : : : : : लेकिन मजाल है 20% Extra का लेबल हट जाये.!
  • sarita mehra https://nojoto.com/portfolio/9f36ff40a95f10ff1346e214d72d580f
  • jareen jj *कैसे कह दूं कि महंगाई बहुत है,,* *मेरे शहर के चौराहे पर आज भी एक रुपये में कई दुआएं मिल जाती है..।।*
  • pradipta lahiri Worry does not empty tomorrow of its sorrow, it empties today of its strength.
  • Sushmita kapoor मुश्किल नहीं है कुछ दुनिया में, तू जरा हिम्मत तो कर। खवाब बदलेंगे हकीकत में, तू ज़रा कोशिश तो कर॥ आंधियां सदा चलती नहीं, मुश्किलें सदा रहती नहीं। मिलेगी तुझे मंजिल तेरी, बस तू ज़रा कोशिश तो कर॥ शुभ प्रभात