News Home » Madhya Pradesh » स्वच्छता रखने टॉयलेट ज्यादा बनंेगेे, 6-6 घंटे ड्यूटी देंगे पटवारी-कोटवार

स्वच्छता रखने टॉयलेट ज्यादा बनंेगेे, 6-6 घंटे ड्यूटी देंगे पटवारी-कोटवार

भारतीय पर गोपनीय सूचनाएं लीक कर हजारों डॉलर कमाने का आरोप है। (सिम्बॉलिक)

न्यूयॉर्क.  अमेरिका में एक भारतीय को गिरफ्तार किया गया है। उस पर भेदिया कारोबार (इनसाइडर ट्रेडिंग) और एक प्राइवेट इक्विटी फर्म द्वारा एक टेक्नोलॉजी कंपनी के एक्वीजिशन (अधिग्रहण) से जुड़ी गोपनीय सूचनाएं लीक कर हजारों डॉलर कमाने का आरोप है। आरोप साबित होने पर भारतीय को 20 साल की सजा और 5 लाख डॉलर (करीब 32 करोड़ रुपए) का जुर्माना देना पड़ सकता है। मैनहट्टन के बैंक में काम करता था आरोपी...

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अवनीश कृष्णमूर्ति (41) नाम का ये आरोपी मैनहट्टन के एक इन्वेस्टमेंट बैंक में काम करता था। मैनहट्टन के एक्टिंग अटॉर्नी जून किम ने कहा कि कृष्णमूर्ति ने भेदिया कारोबार योजना के तहत करीब 48 हजार यूएस डालर का अवैध मुनाफा कमाया। 
- "इसको लेकर सिक्युरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन ने कम्प्लेंट की थी। जिसमें कहा गया था कि गोल्डन गेट कैपिटल कंपनी का एडवरटाइजिंग टेक्नोलॉजी न्यूस्टार इंक को अधिग्रहीत करने का प्लान था। इसके लिए न्यूस्टार के शेयरों का बिजनेस शुरू हुआ। अवनीश ने न्यूस्टार के शेयरों की ट्रेडिंग शुरू की, उसने 2 अकाउंट्स बनाए थे। उस पर आरोप है कि उसने अपने इम्प्लॉयर से सारी बातें छिपाईं। गोल्डन गेट कैपिटल ने अवनीश के बैंक से ट्रांजैक्शन को लेकर कॉन्ट्रैक्ट किया था।"

न्यूजर्सी का रहने वाला है आरोपी

- अवनीश कृष्णमूर्ति न्यूजर्सी का रहने वाला है और 2015 से मैनहट्टन के एक इन्वेस्टमेंट बैंक में वाइस प्रेसिडेंट और रिस्क मैनेजमेंट स्पेशलिस्ट के तौर पर काम कर था। उसे 25 अप्रैल को मैनहट्टन की फेडरल कोर्ट में पेश किया गया था। - अटॉर्नी किम के मुताबिक,अवनीश पर अपनी कंपनी के रूल्स वॉयलेशन और इनसाइडर ट्रेडिंग का आरोप है। उसने कथित तौर पर लंबित अधिग्रहण से जुड़ी जानकारी तक अपनी पहुंच का फायदा उठाया। ये जानकारी स्टॉक और ऑप्शंस के खरीद के बारे में थी। उसने इस काम में गैरकानूनी तरीके से हजारों डॉलर्स कमाए। 

- इनसाइडर ट्रेडिंग का यह मामला पहली बार किम की नजर में आया। बता दें कि किम, प्रीत भरारा की जगह आए हैं। प्रीत मैनहट्टन के टॉप फेडरल प्रॉसीक्यूटर थे जिन्हें ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने हटा दिया था।  

Web Title: Indian citizen arrested in US on charges of insider trading
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

पढ़ते रहिए 5.5 करोड़ + रीडर्स की पसंदीदा और विश्व की नंबर 1 हिंदी न्यूज़ वेबसाइट dainikbhaskar.com, जानो ख़बरों से ज़्यादा।